Sad School Love Story | एक मासूम लड़के की दर्द भरी कहानी

Sad School Love Story


Sad School Love Story, Love Story In Hindi एक मासूम लड़के की दर्द भरी लव स्टोरी 
बात तब की हैं जब संजय 10th क्लास में पड़ता था, उसी क्लास में एक लड़की भी पड़ती थी जिसका नाम प्रिया था। संजय पढ़ाई में बहुत अच्छा था पर दिखने में बहुत सामान्य सा था, वही प्रिया दिखने में तो बहुत ही सुन्दर थी पर पढ़ाई में औसत से कम थी।

संजय सामान्य सा दिखने के बावजूद क्लास की कई लड़कीया उससे बात करती थी, इसकी वजह संजय का पढ़ाई में तेज होना था। क्योंकि एक चीज़ मैंने अक्सर नोटिस किया की क्लास की अधिकतर लड़कियाँ संजय से बात सिर्फ उसके नोट्स लेने के लिए या अपने फायदे के लिए ही बात करते हैं। 

पर बेचारा संजय इन सब बातो से अनजान था, उसे तो इस बात की गलत फहमी थी की लड़कियाँ उसे सच में पसंद करती हैं। इन सारी लड़कियों में एक प्रिया भी थी जो बहुत सुन्दर थी ऐसे में संजय का स्वाभाविक रूप से प्रिया के प्रति आकर्षण ज्यादा था।


अगर आप भी हमें हिंदी में गेस्ट पोस्ट करना चाहते है तो 👉👉👉 यहाँ पर क्लिक करें। 

संजय के दोस्त लड़कों से ज्यादा लड़कियाँ उसकी दोस्त थी, जिसके कारण क्लास के कई लड़के संजय से जलते भी थे। पर संजय उन लड़को को ज्यादा ध्यान नहीं देता था, संजय की लाइफ बहुत अच्छी चल रहा थी। 

किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं था पढ़ाई में अव्वल था जिसके कारण सभी टीचर भी संजय को बहुत पसंद करते थे। संजय सभी लड़कियों की हेल्प करता था पर उसे सबसे ज्यादा खुशी प्रिया की हेल्प करके मिलता था।


कभी - कभी तो संजय खुद ही प्रिया की हेल्प करने को चला जाता था, धीरे - धीरे वक़्त ऐसे ही बीतता गया। फिर एग्जाम के दिन करीब आ गए, क्लास के सभी स्टूडेंट्स को साइंस की टीचर ने 3 - 3 का ग्रुप बना कर एक साइंस प्रोजेक्ट तैयार करने को कहा। 

प्रिया अपनी 2 सहेलियों के साथ ग्रुप बना ली वही संजय भी अपने दोस्तों के साथ ग्रुप बना लिया। संजय के ग्रुप ने जहा प्रोजेक्ट सबमिशन डेट से 3 दिन पहले ही बना लिया, वही प्रिया और उसकी ग्रुप बस मजाक मस्ती में ही अपना टाइम निकाल रही थी।


Sad Love Story Hindi 

प्रिया की एक बुरी आदत थी वह चेहरे देख कर दोस्ती करती थी और उसकी जो सहेलियाँ थी वो भी पढ़ाई में बहुत कमजोर थी। पर उसकी सहेलियाँ अच्छी दिखती थी और अच्छे पैसे वाले फॅमिली से थी तो प्रिया को भी उसका साथ अच्छा लगता हैं। 

प्रिया की सहेलियों में एक पूजा नाम की लड़की थी, वह बहुत ही बुरी और मतलबी थी जो अपने फायदे के लिए दुसरे लोगो को इस्तेमाल करती हैं। पढ़ने लिखने में तो उसका ध्यान ही नहीं था जब प्रिया और उसके ग्रुप का प्रोजेक्ट समय पर पूरा नहीं हो पा रहा था।


तब पूजा ने ही प्रिया से कहा जब कोई काम फ्री में हो जाये तो उसके लिए हमें मेहनत करने की क्या जरुरत। इस पर प्रिया ने पूछा क्या मतलब मैं समझी नहीं तो पूजा ने कहा देख संजय खुद तेरे पास आकर तेरी हेल्प करता हैं की नहीं तो प्रिया ने कहा हा करता तो हैं। 

फिर पूजा ने कहा तो तू जाकर संजय को बोल प्रोजेक्ट में हेल्प करने के लिए और ज्यादा हुआ तो कुछ पैसे भी दे देना। वैसे भी वो इतना तो पढ़ता हैं ये प्रोजेक्ट उसके लिए कुछ भी नहीं, तू बस जाकर कर प्यार से बोल देना और कुछ न कुछ बहाना बना देना वो माना नहीं करेगा तू बस मजे कर। 


पूजा ने ये इसलिए कहा क्योंकि उसे पता था संजय प्रिया को लाइक करता हैं बस पूजा इसी का फायदा उठाना चाहती थी। प्रिया ने पहले तो माना किया पर फिर वही किया जो पूजा ने उसे बोला शायद पूजा जैसी लड़की के साथ रहने पर उसका असर भी प्रिया पर पड़ने लगा था।  

प्रिया ने जाकर संजय को कह दिया और कुछ न कुछ बहाना बना दिया। जब संजय ने प्रोजेक्ट के लिए हां बोल दिया, तो प्रिया संजय की खूब तारीफ करने लगी झूठा प्यार दिखाने लगी की तुम तो बहुत अच्छे हो तुम मेरी बहुत  मदद करते हो तुम्हारी शादी जिसके साथ भी होगी वो बहुत खुश होगी। 


पर प्रिया को इस बात का अंदाज़ा न था की उसकी ये बात संजय के दिल पर जाकर लगेगी। प्रिया की इन बातो से संजय को प्रिया से और भी प्यार होने लगा, संजय प्रिया को अपना बनाने का और भी सपना देखने लगा था। 

धीरे - धीरे संजय प्रिया के प्यार मे पुरी तरह खोने लगा था, वह इतना खो चूका था की अब वह अपने नोट्स बुक में अपने बेंच में भी संजय + प्रिया लिखने लगा था। एक दिन क्लास के कुछ लड़को को ये पता चल गया उसने जाकर सबसे पहले पूजा को बता दिया।


क्योंकि उन बुरे लड़को की दोस्त पूजा थी फिर होना क्या था, पूजा जाकर अपने अंदाज़ में प्रिया को बता दिया की संजय तुमसे प्यार करता हैं और तुमसे शादी के सपने देख रहा हैं । 

फिर प्रिया को संजय के नाम से चिढ़ाने लगी और ये भी कहने लगी तेरी किस्मत में यही लिखा था एक गरीब सा दिखने वाला संजय और तू कहा राज कुमार के सपने देखने लगी थी। 


पूजा के इस तरह बार - बार चिढ़ाने पर प्रिया ग़ुस्से में आ गई और यह कह दिया की संजय जैसे लोग तो मेरे घर में नौकर होते हैं। मैं और उससे प्यार सपने में भी नहीं वो तो क्लास में अच्छा पढ़ता हैं तो बात कर लेती हूँ वरना मैं तो बात भी न करू। 

प्रिया के इन सब बातो को पूजा के दोस्त जो की संजय से जलते थे उसने रिकॉर्ड कर लिया फिर जाकर संजय को दिखा दिया। जब संजय ने देखा तो उसे विश्वास ही नहीं हुआ की प्रिया उसके बारे में यह सोचती हैं, बेचारा संजय का दिल उसी दिन टूट गया वह अंदर से पूरी तरह बिखर गया।


प्रिया ने एक ही पल में उसकी दुनियाँ उजाड़ दी वह अपने आँशु उस पल तो नहीं दिखा पाया। पर क्लास के छत पर जाकर इतना रोया की उसके आँशु रुक ही नहीं रहें थे, उस दिन उसे एहसास हुआ लड़कियाँ उसे पसंद नहीं करती बल्कि उसका फायदा उठाने के लिए उससे बात करती हैं।  

उस दिन के बाद वह दो दिन तक स्कूल नहीं आया और जब आया तो वह पूरी तरह बदल चूका था। अब वह किसी भी लड़कियों से बात नहीं करता था और न ही उनकी हेल्प करता। 

उसके बाद से संजय ने कभी किसी लड़की से दोस्ती नहीं किया और वह अब हमेशा गुमसुम सा रहने लगा था। पर उसके दर्द को समझने वाला कोई न था वह बिल्कुल अकेला हो गया था।


तो यह थी Sad School Love Story In Hindi एक मासूम लड़के की दर्द भरी लव कहानी आशा करता करता हूँ आप सबको पसंद आया होगा।

यह Sad School Love Story सुनील कुमार द्वारा जो की www.heartbeatsk.com के Author हैं। उनके द्वारा लिखा गया। यह hindibestblog.com पर लिखा गया उनका पहला गेस्ट पोस्ट हैं। 


आपको यह Sad Love Story कैसा लगा नीचे कमेंट में जरूर बताये। साथ ही इसे सोशल मीडिया और दोस्तों में भी शेयर जरूर करें, हमसे जुड़ने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक या यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Thanks  For  Reading...


 इन्हें भी अवश्य पढ़ें -

Post a Comment

0 Comments